Page Nav

HIDE

Gradient Skin

Gradient_Skin

Breaking News

latest

12वीं बार कोविड इंजेक्शन लगवाते पकड़ाया अधेड़ व्यक्ति

पटना। बीते दिन बुधवार को बिहार में कोविड वैक्सीन लगवाने को लेकर अजीबो गरीब मामला सामने आया है  एक शख्स का दावा है कि वह 11 बार कोविड वैक्सी...

पटना। बीते दिन बुधवार को बिहार में कोविड वैक्सीन लगवाने को लेकर अजीबो गरीब मामला सामने आया है  एक शख्स का दावा है कि वह 11 बार कोविड वैक्सीन की डोज लगवा चुका है।जबकि तीसरी डोज की प्रक्रिया भी अभी भारत में शुरू नहीं हुई है। जानकारी के मुताबिक 84 वर्ष का वह शख्स जब लगातार 12वीं बार एक स्वास्थ्य केंद्र पर पहुंचा तो लोगों ने उसकी पहचान कर ली और उसे फिर से वैक्सीन लगवाने से रोक दिया गया। कोविड वैक्सीन लगवाने की इस तरह की सनक के पीछे उस व्यक्ति की अपनी दलीलें हैं जिस पर अभी तक किसी वैज्ञानिक ने शायद दुनिया में कहीं भी कोई रिसर्च नहीं किया है।
बिहार के मधेपुरा जिले के रहने वाले 84 साल के एक बुजुर्ग ने दावा किया है कि वो कोविड की वैक्सीन 11 बार लगवा चुके हैं। ब्रह्मदेव मंडल नाम के इस शख्स के दावे के बाद बिहार के स्वास्थ्य महकमे में खलबली मच गई है और राज्य के स्वास्थ्य विभाग के बड़े अधिकारी ने जांच शुरू कर दिया है। ब्रह्मदेव मंडल मधेपुरा के उदाकिशुनगंज के औराई गांव के रहने वाले हैं जिन्हें स्थानीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में रविवार को तब पकड़ लिया गया जब वह 12वीं बार कोविड वैक्सीन लगवाने के फिराक में थे। रिपोर्ट के मुताबिक वहां पर लोगों ने उनकी शिनाख्त कर ली और उन्हें वैक्सीन लगाने से मना कर दिया गया। जानकारी के मुताबिक उन्होंने इसके लिए अपने परिवार के नजदीकी सदस्यों की अलग-अलग आईडी और मोबाइल फोन नंबरों का भी इस्तेमाल किया
सरकार ने बहुत बढ़िया चीज बनाई है मंडल का दावा है कि वह पोस्टल डिपार्टमेंट से रिटायर्ड कर्मचारी हैं और उन्हें कोरोना वैक्सीन की पहली डोज 13 फरवरी, 2021 को लगी थी। उसके बाद उन्होंने पिछले साल मार्च,मई, जून, जुलाई और अगस्त में लगातार इसके टीके लगवाए। सितंबर में उन्होंने अपना आधार कार्ड वोटर आईडी और बाकी दस्तावेजों का इस्तेमाल कर तीन बार वैक्सीन लगवाई। इस तरह से उनका दावा है कि वह बीते साल 30 दिसंबर तक 11 बार कोरोना वैक्सीन की डोज लगवा चुके हैं। उन्होंने इस तरह से वैक्सीन लगावने के सनक का कारण बताने से पहले कहा कि 'सरकार ने बहुत ही बढ़िया चीज (वैक्सीन) बनाई है।
कोविड वैक्सीन की खुराक लगवाने में हुई इस तरह की घोर लापरवाही को लेकर जब मधेपुरा के सिविल सर्जन डॉक्टर अमरेंद्र प्रताप शाही से सवाल हुआ तो वो बचते बचाते बोले सच का पता लगाने के लिए हमने पहले ही जांच का आदेश दे दिया है। जांच के बाद पता चलेगा कि उस शख्स ने कोविड वैक्सीन की इतनी डोज कैसे लगवा ली। रिपोर्ट के मुताबिक उस शख्स ने इस तरह से वैक्सीन की डोज कई केंद्रों पर जाकर लगाई है और यहां तक की दूसरे जिलों में भी इसके लिए गया है।